Dosti Ka Shukriya Ada Karu Kuch Is Tarah Friendship Shayari

Friendship Shayari


दोस्त कभी दोस्तो से खफा होते नही,
मिले दिल कभी जुड़ा होते नही,
भुला देना कमीयो को मेरे क्यूंकी,
दोस्त भी कभी खुदा नही होते.
======================
Dost kabhi dosto se khafa hote nahi,
Mile dil kabhi juda hote nahi,
Bhula dena kamiyo ko mere kyunki,
Dost bhi kabhi khuda nahi hote.




दोस्ती का शुक्रिया अदा करू कुछ इस त्राह,
आप भूल भी जाओ तो मैं सदा याद करू,
दोस्ती ने मुझे इतना सिखाया है बस,
के खुद से पहेले दुआ करू आपके लिए.
========================
Dosti ka shukriya ada karu kuch is tarah,
Aap bhul bhi jao to main sada yaad karu,
Dosti ne mujhe itna sikhaya hai bas,
Ke khud se pehele dua karu apke liye.




सुना है दरबार से खुदा के..
कुछ फरिश्ते हो गये फरार..
कुछ तो चले गये वापस..
और कुछ हुमारे यार रह गये.
===================
Suna Hai Darbar Se Khuda Ke..
Kuch Farishtey Ho Gaye Faraar..
Kuch to Chale Gaye Vaapas..
Aur Kuch Humare Yaar Reh Gaye.




आपकी हसी हमे बहुत प्यारी लगती है,
आपकी हर खुशी हमे हमारी लगती है,
कभी डोर ना करना हूमें खुद से,
आपकी दोस्ती हूमें लगती है जान से भी प्यारी.
========================
Aapki hasi hame bahut pyaari lagti hai,
Aapki har khushi hame hamari lagti hai,
Kabhi door na karna humein khud se,
Aapki dosti humein lagti hai jaan se bhi pyaari.




मिलना और बिछड़ना तो सब किस्मत का खेल है,
कभी नफ़रत तो कभी दिलों का ये मेल है,
बिक जाता है दुनिया मे हर रिश्ता,
सिर्फ़ दोस्ती ही एक यहाँ “नोट फॉर साले” है.
============================
Milna aur bichdna to sab kismat ka khel hai,
Kabhi nafrat to kabhi dilon ka ye mel hai,
Bik jata hai duniya me har rishta,
Sirf dosti hi ek yahan “NOT FOR SALE” hai.

CLICK HERE FOR MORE SHAYARI

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »