Yaad Na Karo To Sataenge Dosti Shayari

new shayari 2016, kabhi kisi ko itna yaad mat karo shayari, dosti shayari, new dosti shayari 2016, best dosti shayari in hindi, dhansu status, dhansu shayari, dhansu whatsapp status, shayari hi shayari, funny sms for friends, mera dost meri jaan shayari, top 5 dosti shayari


dosti agar buri hai to use hone mat do,
ho gayi hai to use khone mat do,
aur agar dost ho sabse pyara to,
use sone mat do... jagte raho.


ek patthar kafi hai shisha todne ke liye,
ek baat kaafi hai dil todne ke liye,
aur ek dost kaafi hai zindagi jee lene ke liye.


dil ki galiyon me dhunda to sunsan paya,
har mod pe dekha to kuch nazar na aya,
kai dino se dost ka koi message nahin aya.


har dua kabul nahi hoti,
har aarzoo poori nahi hoti,
jinke dil me aapke jaisa dost rehta ho,
unke liye dhadhanen bhi zaroori nahi hoti.


yaad na karo to sataenge,
ruthoge to manaenge,
roaoyge to hasaenge,
dost hain ham tere,
saaya nahi jo andhere me tera saath chhod jayenge.


dheere-dheere jeete hain zindagi ki had tak,
sil se dil lagate hain dillagi ki hadh tak,
aise nahi ham ki raah me chhod de,
dosti nibhate hain dosti ki hadh tak...


har kisi ka picha nahi karte,
darde dil liya aur diya na hi karte,
ittifaak se ye dosti hai tumse,
varna itte kimtio sms kisi ko kiya na hi karte.



दोस्ती अगर बुरी है तो उसे होने मत दो,
हो गयी है तो उसे खोने मत दो,
और अगर दोस्त हो सबसे प्यारा तो,
उसे सोने मत दो... जागते रहो.


एक पत्थर काफ़ी है शीशा तोड़ने के लिए,
एक बात काफ़ी है दिल तोड़ने के लिए,
और एक दोस्त काफ़ी है ज़िंदगी जी लेने के लिए.


दिल की गलियों मे ढूनदा तो सुनसान पाया,
हर मोड़ पे देखा तो कुछ नज़र ना आया,
कई दीनो से दोस्त का कोई मेसेज नहीं आया.


हर ढुआकबूल नही होती,
हर आरज़ू पूरी नही होती,
जिनके दिल मे आपके जैसा दोस्त रहता हो,
उनके लिए धाधानें भी ज़रूरी नही होती.


याद ना करो तो सताएँगे,
रूतोगे तो मनाएँगे,
र्ौआवयगे तो हस्ैएँगे,
दोस्त हैं हम तेरे,
साया नही जो अंधेरे मे तेरा साथ छ्चोड़ जाएँगे.


धीरे-धीरे जीते हैं ज़िंदगी की हद तक,
सील से दिल लगते हैं दिल्लगी की हाढ़ तक,
ऐसे नही हम की राह मे छ्चोड़ दे,
दोस्ती निभाते हैं दोस्ती की हाढ़ तक...


हर किसी का पीछा नही करते,
दर्दे दिल लिया और दिया ना ही करते,
इत्तिफाक से ये दोस्ती है तुमसे,
वरना इतते कीमटिओ स्मस किसी को किया ना ही करते.


Share this

Related Posts

Previous
Next Post »