Whatsapp 4 Line Love Shayari

Vaade par woh aitbaar nahi karte,
Hum zikre mohobbat sare bazaar nahi karte,
Darta hai dil unki ruswai se,
Aur wo sochte hain ham unse pyar nahi karte.
वादे पर वो ऐतबार नही करते,
हम ज़िक्र मोहोब्बत सरे बेज़ार नही करते,
डरता है दिल उनकी रुसवाई से,
और वो सोचते हैं हम उनसे प्यार नही करते.


Pyar na kare wo dil kis kaam ka?
Dosti na kare wo insaan kis kaam ka?
Yeh dibba to sab lekar ghumte hain,
Jo SMS na kare uska mobile kis kaam ka.
प्यार ना करे वो दिल किस काम का?
दोस्ती ना करे वो इंसान किस काम का?
यह डिब्बा तो सब लेकर घूमते हैं,
जो स्मस ना करे उसका मोबाइल किस काम का.


Chand utarta tha hamare angne me,
Yeh sitaron ko ganwara na hua,
Hum bhi sitaron se kaise gila karen,
Jab chand hi hamara na hua.
चाँद उतरता था हमारे अंगने मे,
यह सितारों को गंवारा ना हुआ,
हम भी सितारों से कैसे गीला करें,
जब चाँद ही हमारा ना हुआ.


Chhoti-Chhoti baton pe takrar na kiya karo,
Humare har mazak ko dil pe mat liya karo,
Kya pata sath hai aur kitne din ka,
In palon ko to pyar se jiya karo.
छोटी-छोटी बातों पे तकरार ना किया करो,
हमारे हर मज़ाक को दिल पे मत लिया करो,
क्या पता साथ है और कितने दिन का,
इन पलों को तो प्यार से जिया करो.


Dost to rukhsat ho  jate hain,
Par kuchh yadon ke dayre ban jate hain,
Bhul jana to insaan ki fitrat hai,
Par kuchh achchhe dost yadon me bas jate hain.
दोस्त तो रुखसत हो  जाते हैं,
पर कुच्छ यादों के दायरे बन जाते हैं,
भूल जाना तो इंसान की फ़ितरत है,
पर कुच्छ अच्छे दोस्त यादों मे बस जाते हैं.


Dukh hai dard hai to dava hai dost,
Is ghutan bhari zindagi ki fiza hai dost,
Jo na samjhe uske liye kuch nahi par,
Doston ke liye to khuda hai dost.
दुख है दर्द है तो दावा है दोस्त,
इस घुटन भारी ज़िंदगी की फ़िज़ा है दोस्त,
जो ना समझे उसके लिए कुछ नही पर,
दोस्तों के लिए तो खुदा है दोस्त.


whatsapp shayari, latest whatsapp shayari, best sad shayari, new whatsapp short shayari, 4 line shayari, hit shayari, hit 4 line shayari

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »